नीतीश कुमार ने पीएम मोदी की उंगली देखी और फिर मुस्कुरा दिए, सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल

नीतीश कुमार ने पीएम मोदी की उंगली देखी और फिर मुस्कुरा दिए, सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल

उमाकांत त्रिपाठी।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार के दौरे पर थे। राजगीर में उन्होंने नालंदा विश्वविद्यालय के खंडहर देखे और नए कैंपस का उद्घाटन किया। इस मौके पर एक दिलचस्प वाकया हुआ। मंच पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अचानक प्रधानमंत्री मोदी का हाथ पकड़कर कुछ देखने लगे। पीएम ने मुस्कुराते हुए उनसे बात की और उनके सवाल का जवाब दिया। ये देखकर प्रधानमंत्री की सुरक्षा में तैनात एसपीजी के जवान भी उनकी तरफ देखने लगे।नीतीश ने अचानक मोदी से उनकी उंगली के बारे में पूछा।

कल नीतीश ने अशोक चौधरी का सिर डिप्टी सीएम से टकराया
मंगलवार को नीतीश कुमार एक बार फिर से अपने पुराने अंदाज में नजर आए थे। स्वतंत्रता सेनानी भूपेंद्र मंडल को श्रद्धांजलि देने के लिए मुख्यमंत्री बिहार विधानसभा परिसर पहुंचे। यहां उन्होंने मंत्री अशोक चौधरी और उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा के सिर को आपस में टकराया।

उन्होंने हंसते हुए ये सब किया। सीएम यहीं नहीं रुके। उन्होंने मंत्री अशोक चौधरी, मंत्री प्रेम कुमार और उप मुख्यमंत्री विजय सिन्हा का भी सिर टकराया। इस दौरान वहां मौजूद सभी लोग ठहाके लगाते दिखे।
सीएम नीतीश मंत्री अशोक चौधरी का सिर डिप्टी सीएम से टकराते हुए।

दिल्ली में नीतीश ने छू लिए थे PM के पैर
दिल्ली में 7 जून को NDA की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी को संसदीय दल का नेता चुना गया। इस दौरान 17 नेताओं ने भाषण दिया, लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा नीतीश की हुई। नीतीश कुमार भाषण के तुरंत बाद पीएम के पास आए और उनके पैर छूने लगे।

भाषण के बाद नीतीश मंच पर मोदी के पास पहुंचे और हाथ पकड़कर अभिवादन किया।
नीतीश ने सम्मान देने की कोशिश की और झुके।

7 नवंबर 2023 को नीतीश ने मंत्री पर बरसाए थे फूल
7 नवंबर 2023 को सीएम नीतीश अपने ही कैबिनेट मंत्री अशोक चौधरी के पिता महावीर चौधरी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे। इस दौरान, उन्होंने महावीर चौधरी को श्रद्धांजलि देने के बदले अशोक चौधरी पर ही फूल बरसना शुरू कर दिया था। हालांकि बाद में इसको लेकर जदयू की तरफ से तरह-तरह के तर्क भी दिए गए। अब इसी बात पर जीतन राम मांझी ने आज अपने ट्वीट के जरिए नीतीश पर निशान साधा है।नीतीश अपने मंत्री के पिता को श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे, उन्होंने मंत्री पर फूल बरसा दिए थे।

सदन में जीतन राम मांझी पर भड़क गए थे नीतीश
दरअसल 9 नवंबर 2023 को सदन में जातीय गणना के आधार पर आरक्षण संशोधन विधेयक पर चर्चा हो रही थी। इसी पर हम सुप्रीमो जीतन राम मांझी अपनी बात रख रहे थे। इसे लेकर पूर्व सीएम मांझी ने आपत्ति जताई तो नीतीश आगबबूला हो गए। उन्होंने यहां तक कह दिया कि इसे सीएम बनाना मेरी मूर्खता थी। इसके बाद से लगातार जीतन राम मांझी इसका विरोध कर रहे है।