गृह-मंत्री अमित शाह की जम्मु-कश्मीर सुरक्षा पर हाई लेवल मीटिंग,जीरो टेरर प्लान से लेकर जम्मु-कश्मीर में कानून व्यवस्था की स्थिति पर करेंगे चर्चा।

गृह-मंत्री अमित शाह की जम्मु-कश्मीर सुरक्षा पर हाई लेवल मीटिंग,जीरो टेरर प्लान से लेकर जम्मु-कश्मीर में कानून व्यवस्था की स्थिति पर करेंगे चर्चा।

उमाकांत त्रिपाठी।
जम्मू-कश्मीर के सुरक्षा मुद्दे पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज (मंगलवार) को दिल्ली में हाई लेवल मीटिंग करेंगे। इसमें दौरान NSA अजीत डोभाल, जम्मू-कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा, DGP आर आर स्वैन सहित अन्य अधिकारी मौजूद होंगे।
मीटिंग में जम्मू-कश्मीर में कानून व्यवस्था की स्थिति, एरिया डोमिनेशन प्लान, सिक्योरिटी ग्रिड, यूएपीए से जुड़े मामलों और जीरो टेरर प्लान पर चर्चा होनी है। साथ ही यहां के डेवलपमेंट की भी समीक्षा की जाएगी।
मीटिंग के दौरान गृह मंत्री शाह जम्मू-कश्मीर की विकास परियोजनाओं की समीक्षा करेंगे। केंद्र सरकार ने साल 2021 में जम्मू-कश्मीर के लिए 28,400 करोड़ रुपए की नई इंडस्ट्रियल पॉलिसी की घोषणा की थी।
इसके तहत साल 2022-23 के दौरान इंडस्ट्रियल एरिया में 2153.45 करोड़ रुपए का इन्वेस्टमेंट आया है। साल 2023-24 के लिए नवंबर 2023 तक 2326.65 करोड़ का निवेश हो चुका है।

साल 2023 में हुआ 76 आतंकियों का सफाया
जम्मू-कश्मीर में साल 2023 में 48 एंटी टेररिस्ट ऑपरेशन्स के तहत 76 आतंकी मारे गए, जिनमें 55 विदेशी थे। DGP आर आर स्वैन ने 30 दिसंबर को जानकारी शेयर की थी।
साल 2023 में जम्मू-कश्मीर में 291 आतंकी सहयोगियों को गिरफ्तार किया गया। पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत 201 ओवरग्राउंड वर्कर्स के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

DGP स्वैन ने कहा था कि जम्मू-कश्मीर में 2022 में आतंकी घटनाओं में 63 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। पिछले साल राज्य में 125 आतंकी घटनाएं हुई थीं और 2023 में यह आंकड़ा 46 रहा।
वहीं, 2023 में आतंकी भर्ती में भी 80 फीसदी की गिरावट दर्ज हुई। 2023 में यह संख्या 22 रही। साल 2022 में 130 स्थानीय लोग आतंकी गतिविधियों में शामिल हुए थे।